very sad love story in hindi

very sad love story in hindi,सुन्नोता – सैड लव स्टोरी

Spread the love

very sad love story in hindi,सुन्नोता – सैड लव स्टोरी 

heart touching love quotes in hindi
Sunnota एम्प्टी – सुन्नोटा – सैड लव स्टोरी
अचानक एक एसएमएस आया तो सुष्मिता चौंक गईं।
नंबर बहुत जाना पहचाना है..
इस नंबर को कभी भुलाया नहीं जा सकेगा।
मैंने कभी नहीं सोचा था कि इस नंबर से फिर से एसएमएस आएगा..
“क्या मैं आपका वेलेंटाइन डे गिफ्ट ले सकता हूं ?? मैं गंदगी छोड़ रहा हूँ,
मैं घर से यात्रा करूँगा..तो मैं घर पर प्रबंधन नहीं कर सकता “very sad love story in hindi

very sad love story in hindi खालीपन – सुन्नोता – सैड लव स्टोरी …… ..  heart broken love story in hindi

उसने आश्चर्य से उत्तर दिया, “हाँ! वापस लौटें!
बताओ कहाँ मिलना है..
सुसमित की दिल की धड़कन बढ़ गई, कब तक ये शब्द पहचानने योग्य लगते हैं,
इनबॉक्स से एक पुरानी जानी-पहचानी मीठी महक आई,
कितनी देर से उसने अहेली को नहीं देखा…very sad love story in hindi

यह वही अहिली है जिसके साथ वह सारा दिन मौज-मस्ती करता रहता था,
जिसके साथ वह सारा दिन पाठ के मौन उपांग में बातें करता था,
जिसकी विविध ध्वनि उसे जगाती थी, अपने सुप्त शब्द “शुभ रात्रि”
के साथ सोने के लिए जाती थी।
उसके साथ एक छतरी के नीचे बरसती बारिश में..गीला,
गंगा के किनारे उसके उड़ते बालों की महक.. कितनी बातें,
कितना प्यार, कितना अहंकार, गुस्सा.. नहीं!very sad love story in hindi

सब कुछ कहाँ खो गया है?
सुबह के सूरज की तरह मन की अटारी में यादें सजने लगीं..
सीना बहुत भारी हो गया।very sad love story in hindi

खालीपन – सुन्नोता – सैड लव स्टोरी …… ..

उसने अपने विचारों के योग में अपनी दाढ़ी खींची,
एसएमएस तुंगतांग ध्वनि, ..
“सुनो, कल 3 बजे स्टेशन पर खड़े रहो!
मैं ट्रेन से उतर कर तुम्हारे साथ चलूँगा.. ठीक है? “..
सुस्मित ने उत्तर दिया,” हम ठीक है,
क्या मैं एक प्रश्न पूछ सकता हूँ?” ..
तत्काल उत्तर आया, “टैक्स”।very sad love story in hindi

सुष्मिता ने जिज्ञासु निगाहों से टाइप करना शुरू किया,
“तुमने कहा था कि तुमने तोहफा तोड़ा.. तो? .. ”
जवाब आया,“ नहीं! भंगिनी रे, मैं बहुत सावधान हूं,
लेकिन मैं आपकी याददाश्त को और नहीं रखना चाहता,
कृपया आओ और कल ले लो ”।very sad love story in hindi

सुष्मिता का सीना अंदर से मुड़ गया,
उनके स्मार्टफोन पर आंसू गिर पड़े।

उस रात सुष्मिता की नींद बिल्कुल भी नहीं आ रही है..
तरह-तरह के विचार-विचार-याद-उत्साह की बड़ी लहरों में मन का
किनारा बार-बार बेचैन होता जा रहा है..
“क्या वह पहले जैसा है, या पिछले डेढ़ साल में बहुत बदल गया है,
चांदनी के साथ उसका सुंदर चेहरा कब तक नहीं देखा जाता है।

खालीपन – सुन्नोता – सैड लव स्टोरी …… ..

कितने प्यार से उसने अपने कान के किनारे से बाल निकाले
और अपने चिकने गालों पर होंठों के निशान दिए..
और आज? ..सुसमीत
का सीना बहुत अकेला महसूस कर रहा था..
उसके कमरे का अँधेरा उसे पकड़ रहा था।very sad love story in hindi
“नहीं! मैं कल नीली शर्ट के पीछे जाऊंगा, उसे नीली शर्ट बहुत पसंद आई।

“देखते हैं सुष्मिता कितनी बदल गई हैं,
कितना खुद को विकसित कर चुकी हैं”..
वह कहते थे “मैं तुम्हें बिल्कुल भी पसंद नहीं करता”..
आज देखते हैं कि समय के साथ सुष्मिता कितनी बदल गई है..
उसकी परेशानी गर्व में बदलने लगी।

आँखों ने बड़ी मुश्किल से नींद लाने की कोशिश की..
लेकिन नींद ने पिछले पाठ संदेश की झुनझुनी की आवाज़ को दूर ले लिया था;
आज मुझे उसकी इतनी याद क्यों आती है?
लगभग भुला दिया गया था; क्यों फिर क्यों,very sad love story in hindi
आज धीरे-धीरे बना था मजबूत स्मृति का बांध, अहेली ने एक झटके में तोड़ा..
मुझे याद है वो दिन जब सुष्मिता उनसे पहली बार मिली थीं।

फ़ेसबुक और दोस्ती पर क़रीब छह महीने की बातचीत के बाद जब उन्होंने आख़िरकार फ़ैसला किया कि
“चलो! चलो मिलते हैं, पास ही रहता हूँ”..
अहेली से सुष्मिता की दूरी सिर्फ एक ही स्टेशन है, अहेली ने कहा,

“सुनो! मैं कल 8.07 बजे लेडीज ट्रेन पकड़ लूंगा,
क्या आप उससे पहले इस स्टेशन पर आ सकते हैं? क्या सुबह इतनी जल्दी कोई समस्या नहीं होगी? ..खुश
-उत्साह-खुशी से भरी सुष्मिता ने कहा नहीं! नहीं!
मैं स्टेशन पहुँच जाऊँगा, तुम ठीक समय पर पहुँच जाओगे।

खालीपन – सुन्नोता- सैड लव स्टोरी …… ..
ऐसा उत्साह फिर से क्यों हो रहा है?
सुष्मिता ने उत्सुकता से अपने आप से पूछा..
घर के अँधेरे से उसे कोई उत्तर नहीं मिला।
नहीं! उस रात उसे नींद नहीं आई।very sad love story in hindi

मैंने सारी रात एक खूबसूरत नई जिंदगी का सपना देखा..
अहिली की भी यही स्थिति थी?
बाद में नहीं पूछा।very sad love story in hindi
जब केट सुबह 5 बजे उठकर नहाने के लिए तैयार हो रहा था, तो मेरी
माँ को सुखद आश्चर्य हुआ,
“तुम इतनी सुबह कहाँ जा रही हो?”
सुष्मिता ने खुशी से कहा, “माँ, आज संचार कौशल पर एक सेमिनार है,
इसलिए मुझे जल्दी जाना है … मैं सुबह 8.30 बजे ट्रेन पकड़ लूंगा!”
वह अभी सुबह 8.30 बजे अहलेदे स्टेशन पर आया था, आज बहुत उत्साहित होकर,
जैसे समय समाप्त हो रहा हो, वह प्लेटफॉर्म 2 पर एक बेंच पर बैठ गया और इंतजार करने लगा।

खालीपन – सुन्नोता – सैड लव स्टोरी …… ..

छाती दूर है.. बार-बार फोन चेक कर रहा है..
कोई एसएमएस करता है.. अनामने पैर नाचने लगे …
उफ़! वह जब आता तो समय- घड़ी
समय – नीली शर्ट और जींस। एक के बाद एक ट्रेन आगे से निकल रही थी..
उफ़! अब और नींद नहीं! घड़ी देखी, 8.55 !!..
और कब आएगी? उत्साहित होकर उन्होंने लिखा,
“आप कहां हैं?” मैं कब से बैठा हूँ..
कब आऊँगा?”…very sad love story in hindi
अचानक मैंने एक प्यारी सी दिखने वाली लड़की,
घुँघराले बाल, जैतून के रंग की कुर्ती, जींस…
उसकी आँखों पर रिमलेस चश्मा देखा। तब तक ..

यह दिल की धड़कन सुष्मित के सीने के अंदर से धड़कने लगी।
अहेली स्टेशन नंबर 1 पर खड़ी थी और सुष्मिता को देखकर प्यारी सी मुस्कुरा दी।

नहीं! आज याद आई वो प्यारी सी मुस्कान !!!

खालीपन – सुन्नोता- सैड लव स्टोरी..
सुबह 8 बजे उठा तो ..very sad love story in hindi
सुष्मिता को पता ही नहीं चला कि उस आँख को कल की याद का भँवर कब समझ में आया।
नहीं, वह आज कॉलेज नहीं जाएगा…
आज पुरानी मीठी महक है,
चिनचिला का कितना सुखद दर्द है।
समय बेफिक्र होकर गुज़रने लगा..
मानो मन किसी चीज़ पर बैठा ही नहीं।

मन में अजीब सी उमंग, बेचैनी, थोडा सा दर्द..
पहले की तरह, कभी-कभी मोबाइल चेक करते.. आहेली sms…
नहीं!
नहीं किया…
कोई खामोशी नहीं..
मैं फिर से बात करना चाहता हूं.. लेकिन नहीं!
वो या पहले sms क्यों..??
उसका अहंकार जाग उठा..
मन में विचार घूम रहे हैं.. अंत में अहंकार की इच्छा जीत गई,
दयालु आँखों से वह टाइप करता है, “क्या तुम आज आओगे?
” मैं आता हूँ!very sad love story in hindi
मैं लैब में था 2.05 की ट्रेन पकड़ लूंगा,
आप प्लेटफॉर्म पर खड़े हो जाओ! हम 3 घंटे में पहुंच जाएंगे।”

सुनयता-सुन्नोता- सैड लव स्टोरी……..
सुष्मिता ने नहा-धोकर नहा-धोकर
किसी तरह खाया पिया, नीली शर्ट और जींस पहन ली।
चलो आज फिर देखते हैं अहेली को नीले रंग की शर्ट में.. अगर मुझे उसके बारे में पहले कुछ याद है..
सुष्मिता काफी ठीक हो जाने के बाद स्टेशन के लिए निकलीं।

यह महसूस करना कि हमारे पास भावनात्मक रूप से ‘रन आउट गैस’ है।
सड़क मार्ग से 20 मिनट स्टेशन।
वह बहुत पहले चला गया।
आज स्टेशन बहुत जाना पहचाना सा लग रहा था,
याद की चिंगारी सुलगती नजर आ रही है।
वह स्टेशन पर एक बेंच पर बैठ गया।very sad love story in hindi

बेसुध निगाहों से बैठ कर देखता था.. स्टेशन की भीड़, लोग,
रोज़ की नीरस थकी गाड़ियाँ..
ऐसे समय में वापस आ जाती थी अहेली,
सुष्मिता ऐसे बैठ जाती थी आंख में टिमटिमाना; फिर ऑटो,
मिलेनियम पार्क ने धुंधली रोशनी में अपनी खूबसूरत आंखें खो दीं;
उसकी गोद में सिर रखकर उसने सोचा कि सारी दुनिया कितनी खूबसूरत है।

खालीपन-सुन्नोता- सैड लव स्टोरी……..

जब उसकी हथेली में उसका कोमल हाथ सुष्मिता के बाल छूता और बिली को काटता,
तो वह जुनून से अहेली की छाती पर आंखें मूंद लेती..
“तुम्हें जीवन में और क्या चाहिए?
मैं बस तुम्हें चाहता हूं।”very sad love story in hindi

लेकिन एक झटके में सब कुछ क्यों बदल गया?
एक दिन में बदल गई दुनिया?
उसकी हरी-भरी धरती एक दिन में क्यों सूख गई और भयानक सूखे में बदल गई?
जब उसने अपनी आंख के कोने में आंसू महसूस किया,
तो सुष्मिता को अचानक ट्रेन की घोषणा पर झटका लगा।
उसने घड़ी देखी और 2.52 देखा, ट्रेन प्रवेश कर रही थी।
हां! इस ट्रेन में अहेली आने वाली है..

खालीपन – सुन्नोता- सैड लव स्टोरी …… ..
जब ट्रेन भारी गर्जना के साथ स्टेशन में दाखिल हुई,
तो सुष्मिता के दिमाग के अंदर का सायरन तेज आवाज के साथ उनके कान छिदवा दिया…
सीने में उथल-पुथल…
उसने चारों ओर देखा।very sad love story in hindi

जिज्ञासु निगाह एक जाने-पहचाने चेहरे की तलाश करने लगी।
अंत में मैंने घुँघराले बालों वाली लड़की को देखा।
सफेद कुर्ती, जींस.. वो रिमलेस चश्मा..
सुष्मिता को देखा तो वो फिर से प्यारी सी मुस्कराई..
आज की मुस्कान सीने में तीर की तरह चली गई।

यही मुस्कान उनकी खुशी का कारण बनी।
वह कब से इस मुस्कान को देखने का इंतजार कर रहे हैं।
नहीं!
और इस मुस्कान को वापस न जाने दें।
हमें आज कुछ करना है।
अहेली जो आपको बताएगी कि उसके बिना जीवन कितना दयनीय है। ..
नहीं, मैं हर दिन इस तरह नहीं रह सकता।
अचानक उसके सारे विचार स्तब्ध रह गए।

पीछे से एक लड़के को अचानक स्मार्ट, काली टी-शर्ट,
चेहरे पर बकरी की दाढ़ी, अहेली के साथ देखकर वह चौंक गया, दोनों का चेहरा खुश था।
वे दोनों आगे आने लगे..सुमित की ओर।
“कैसी हो तुम, किरी?”very sad love story in hindi
स्वाभाविक रूप से, एक परिचित स्त्री की आवाज सुष्मिता के कान में लगी।
“मैं तुम्हारे बारे में अच्छा महसूस करता हूं,
मैं देख रहा हूं कि तुम पूरी तरह से बदल गए हो।”

खालीपन – सुन्नोता – सैड लव स्टोरी …… ..

सुष्मिता ने अपना ख्याल रखा.. मन के सभी जाग्रत विचारों को दूर धकेलते हुए,
मुड़ी हुई रीढ़ को सीधा किया और चेहरे पर मुस्कान के साथ कहा, “ठीक है रे.. आप कैसे हैं?
सुष्मिता ने अहेली को अच्छे से देखा।
चेहरे पर मुंहासों के हल्के निशान थे, वह थोड़ा स्वस्थ था, उसकी बहुत कामना थी,
जैसे पहले उसने हल्के से सिर पर थप्पड़ मारा और पूछा, “किरे पगली!
तुम घर में राक्षस की तरह खाते हो, है न?
उसके चेहरे की सूखी मुस्कान ने उसके दिमाग को स्थिर रखा।

“मैं भी ठीक हूँ, रे। वैसे भी, वह मेरा एक दोस्त है।
मेरा परिचय दो, सायन। वह हमारे बगल में रहता है।”
सीना भारी हो गया.. जिज्ञासा से छाती फट रही है.. बेशक यह लड़का उसका नया प्रेमी है।
किसी ने सुना, “मैं तुम्हारे पूर्व को एक लड़के के साथ देखूंगा!”
विश्वास नहीं हुआ उस दिन.. जान से भी प्यारी अहेली उसे एक दिन में नहीं भूल सकती।
उसने अपने चेहरे पर लकड़ी की मुस्कान के साथ लड़के से हाथ मिलाया।

फिर उसने अहेली से कहा, “चलो दूसरी तरफ खड़े हो जाओ,
अगली ट्रेन 15 मिनट बाद है, तब तक रुको।”
अहेली ने झिझकते हुए कहा, “चलो चलते हैं।”
वे दूर चले गए और एक फल की दुकान के सामने मंच पर खड़े हो गए।
फल उत्पादक का चेहरा आज जाना-पहचाना हो गया, मुझे याद है,
उस मिलेनियम पार्क से लौटते हुए, यहाँ खड़े होकर ट्रेन में अहेली को उठा रहा था।

खालीपन – सुन्नोता – सैड लव स्टोरी ………..

उसने फल उगाने वाले के चेहरे की ओर देखा, वह यह जानकर हैरान रह गया कि कैसे।
“वैसे भी, जो कुछ भी तुम आओ, ले लो …”
अहेली ने बैग से पॉलीथिन मोरा का एक डिब्बा निकाला और सुष्मिता को सौंप दिया।
सुष्मिता का सीना मुड़ गया, इतनी आसानी से दे दिया मेरा आखिरी स्मृतितुकु?
लेकिन उसने अपने चेहरे पर मुस्कान के साथ कहा,
“हम्म! धन्यवाद! और कैसी चल रही है जिंदगी..?”very sad love story in hindi

अहेली ने सामान्य तरीके से जवाब दिया..,
“मैं यह नहीं कहूंगा कि मैं बहुत अच्छा था,
लेकिन सायन के आने के बाद से मैं बहुत अच्छा हूं, मुझे एक दोस्त की जरूरत थी… और आप?
सुष्मिता का दिल धड़कना बंद हो गया। धरती खाली है।

उसने सायन की ओर देखा और मुस्कुराया क्योंकि उसे उत्तर नहीं मिला।
देखिए अगली ट्रेन का ऐलान!
ट्रेन जोर से आ रही है,very sad love story in hindi
अहेली थोड़ा पास आया और गहराई से देखा और फिर कहा “क्या कह रहे हो” –
सुष्मिता ने अहेली की आँखों से आँखें हटाकर कहा, “मैं बहुत अच्छी हूँ रे।

उसके शब्द ट्रेन की सीटी के साथ घुलमिल गए और कहीं खो गए लग रहे थे।
उसने उन्हें पहले की तरह ट्रेन में बिठा दिया.. ट्रेन चलने लगी..
अहेली ट्रेन के गेट के सामने खड़ी थी.. सुसमित ने देखा और फिर से मीठा मुस्कुराया..
लेकिन उसकी गहरी काली आँखें कितनी दर्दनाक लग रही थीं…
धीरे-धीरे अहेली की आँखें गायब हो गईं।

very sad love story in hindi
सर्दी, उस पर बादल छाए रहेंगे, दोपहर के आसपास थोड़ा अंधेरा!
चारों तरफ हलके कोहरे से कितना रहस्यमयी माहौल बना है।
इसके बीच में ट्रेन धीमी गति से अपने गंतव्य की ओर बढ़ रही है।
यह कुछ देर के लिए नजरों से छिपा रहेगा।
कोहरे में विलीन हो जाएगा।
कहां खो जाएगा 6..
धुंधली निगाहों से ट्रेन की ओर देखते हुए सुष्मिता ने आह भरी और कहा, “अच्छा रहो”।

खालीपन – सुन्नोता – सैड लव स्टोरी …… ..sad love story kahani

1 thought on “very sad love story in hindi,सुन्नोता – सैड लव स्टोरी”

  1. Pingback: [ A 1 + ] pyar wali kahani,सच्चे प्यार की कहानी, बस रोना मत

Leave a Comment

Your email address will not be published.